Pages

Full list of revised GST rates 0n 6.10.2017 for 27 goods and 12 services

The Goods and Services tax (GST) council on Friday cut rates on 27 items and 12 services.

The Finance Minister Arun Jaitley-headed panel pushed for big changes in its 22nd meeting to iron out rough edges of the new tax system that has been hit by multiple pain points since it was rolled out on July 1.

Here's the full list of revised rates on 27 goods and 12 services.


1) Mango sliced dried -                   Old rate: 12%              New rate: 5%

2) Khakra and plain chapati -  Old rate: 12%                    New rate: 5%

FAQs on Migration to GST

Step By Step Guide To GST Enrollment for Existing Central Excise / Service Taxpayers

REFUND UNDER GST ( GST में धनवापसी )


जीएसटी के तहत पंजीकृत नहीं होने के लिए दंड

जीएसटी के तहत गैर-अनुपालन को जांचने के लिए विभिन्न उपाय किए गए हैं। यह अपराध की गंभीरता के आधार पर भिन्न होता है| मौजूदा शासन की तुलना में जीएसटी के तहत कर बहिष्कारों के लिए दंड को कठोर बना दिया गया है | मौजूदा शासन में,कर की चोरी की गई राशि उत्पाद शुल्क और सेवा कर के तहत 2 करोड़ रुपये से अधिक होने पर टैक्स अधिकारी कर योग्य व्यक्ति को गिरफ्तार कर सकते हैं | वैट में, गुजरात को छोड़कर, किसी भी अन्य राज्य में गिरफ्तारी खंड नहीं है।

GST Registration के लिए जरूरी डाक्यूमेंट्स की लिस्ट

GST में Registration Online होता हैं और इसके लिए सामान्यत: physical documents भेजने की आवश्यकता नहीं होती| सभी Original Documents की Scan Copy सीधे Online अपलोड की जाती हैं| GST रजिस्ट्रेशन के लिए मुख्य रूप से दो तरह के डाक्यूमेंट्स की जरूरत पड़ती हैं –

A. व्यवसाय के मालिक या मुख्य व्यक्तियों से जुड़े Documents – 
  1. PAN Card, 
  2. Photos, 
  3. Aadhar Number etc.

वस्तु एवं सेवा कर (GST) में इनपुट सेवा वितरक (Input Service Distributor)

वस्तु एवं सेवा कर (GST) में इनपुट सेवा वितरक की अवधारणा (Concept of Input Service Distributor in GST)

 इनपुट सेवा वितरक (आई.एस.डी.) 

एम.जी.एल. की धारा 2(56) के अनुसार, आई.एस.डी. वस्तुओं और/या सेवाओं के आपूर्तिकर्ता का कार्यालय है जो इनपुट सेवाओं की प्राप्ति पर धारा 23 के अंतर्गत जारी किये कर चालान/बिल प्राप्त करता है और कर चालान/वस्तुओं और/या सेवाओं के कराधीन आपूर्तिकर्ता को कथित सेवाओं की आपूर्ति के लिये बिल या इस प्रकार के अन्य दस्तावेज जारी करता है या अन्य दस्तावेज़ जैसा सी.जी.एस.टी. (राज्य अधिनियमों में एस.जी.एस.टी.)

GST में रिवर्स चार्ज का अर्थ एवं, सेवाएँ जिन पर रिवर्स चार्ज लागू होता हैं .

रिवर्स चार्ज का अर्थ  - 

GST में सामान्यत: Supplier यानि वस्तु या सेवा को बेचने वाला व्यक्ति Customer से GST चार्ज करता हैं और सरकार को जमा करवाता हैं| लेकिन कुछ परिस्थितियों में GST की जिम्मेदारी Supplier पर न होकर Receiver यानि वस्तु या सेवा खरीदने वाले व्यक्ति पर होती हैं, इसे ही Reverse Charge Mechanism (RCM) कहते हैं| Reverse Charge में क्रेता GST का भुगतान विक्रेता को न करके सीधा सरकार को जमा को जमा करवाता हैं| कुछ परिस्थितियों में Partial Reverse Charge भी होता हैं यानि कि GST के कुछ भाग की जिम्मेदारी क्रेता पर और बाकी हिस्से की जिम्मेदारी विक्रेता पर होती हैं|

जीएसटी रजिस्ट्रेशन कैसे करें – How to Apply For GST

ऑनलाइन जीएसटी रजिस्ट्रेशन Process (Online GST Registration Process)

सभी व्यवसाय जो GST में Registration लेने के लिए उत्तरदायी हैं उन्हें GST के अंतर्गत Online Registraton करवाना पड़ेगा| जो व्यक्ति पहले से ही VAT, Service Tax या Excise में Registered है, उन्हें अब GST में Migration करवाना पड़ेगा|

जो व्यक्ति GST में Registration करवाना चाहते है, वो GST Common Portal पर जाकर अपनी सारी Information और Document के साथ GST Regstration कर सकते है|

वस्‍तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से संबंधित बार-बार पूछे जाने वाले प्रश्‍न

वस्‍तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से संबंधित प्रायः पूछे जाने वाले प्रश्‍नों के उत्‍तर इस प्रकार हैं-

प्रश्‍नः 1. जीएसटी क्‍या है और यह किस प्रकार काम करता है?

उत्‍तरः जीएसटी पूरे देश के लिए एक अप्रत्‍यक्ष कर है जो भारत को एकीकृत साझा बाजार बना देगा। जीएसटी विनिर्माता से लेकर उपभोक्‍ता तक वस्‍तुओं और सेवाओं की आपूर्ति पर एक एकल कर है। प्रत्‍येक चरण पर भुगतान किये गये इनपुट करों का लाभ मूल्‍य संवर्धन के बाद के चरण में उपलब्‍ध होगा जो प्रत्‍येक चरण में मूल्‍य संवर्धन पर जीएसटी को आवश्‍यक रूप से एक कर बना देता है। अंतिम उपभोक्‍ताओं को इस प्रकार आपूर्ति श्रृंखला में अंतिम डीलर द्वारा लगाया गया जीएसटी ही वहन करना होगा। इससे पिछले चरणों के सभी मुनाफे समाप्‍त हो जायेंगे।

जी एस टी(GST) या वस्तु एवं सेवा कर क्या है ?

जी एस टी क्या है?

जी एस टी या वस्तु एवं सेवा कर एक व्यापक, बहु-स्तरीय, गंतव्य-आधारित कर है जो प्रत्येक मूल्य में जोड़ पर लगाया जाएगा।

इसे समझने के लिए | कोई भी वस्तु निर्माण से लेकर अंतिम उपभोग तक कई चरणों के माध्यम से गुजरता है | पहला चरण है कच्चे माल की खरीदना | दूसरा चरण उत्पादन या निर्माण होता है | फिर, सामग्रियों के भंडारण या वेर्हाउस में डालने की व्यवस्था है | इसके बाद, उत्पाद रीटैलर या फुटकर विक्रेता के पास आता है | और अंतिम चरण में, रिटेलर आपको या अंतिम उपभोक्ता को अंतिम माल बेचता है |

Full list of revised GST rates 0n 6.10.2017 for 27 goods and 12 services

The Goods and Services tax (GST) council on Friday cut rates on 27 items and 12 services. The Finance Minister Arun Jaitley-headed pan...